Breaking News

मगनरेगा स्कीम के अंतर्गत वित्तीय वर्ष 2020-21 के लिए गुरू नगरी के अलग-अलग कामों पर खर्च किए जाएंगे 100 करोड़ रुपएः डी.सी.

स्कीम के अंतर्गत जिले में अब तक 134381 जरूरतमंद लाभपातरियों के बनाए गए जॉब कार्ड

मगनरेगा स्कीम के अंतर्गत फतेहपुर राजपूतां और गाँव मलिक पुर में चल रहे कार्य।

अमृतसर, 27 अगस्त (राजन): मगनरेगा स्कीम के अंतर्गत वित्तीय वर्ष 2020-21 के लिए जिला अमृतसर में अलग-अलग कामों पर 100 करोड़ रुपए खर्च किए जाएंगे। यह जानकारी देते डिप्टी कमिश्नर गुरप्रीत सिंह खैहरा ने बताया कि मगनरेगा स्कीम के अंतर्गत जिला अमृतसर में अब तक 134381 जरूरतमंद लाभपत्रियों के जाब कार्ड बनाए गए हैं और आज तक 621660 दिहाड़ियां पैदा की गई हैं।
डिप्टी कमिश्नर ने बताया कि वित्तीय वर्ष 2020 -21 में भारत सरकार की तरफ से पंजाब प्रदेश में इस स्कीम के अंतर्गत 263 रुपए दिहाड़ी नीयत की गई है। महात्मा गांधी नरेगा स्कीम 1 अप्रैल, 2008 से भारत सरकार की तरफ से शुरू की गई है। मगनरेगा संबंधी पहला एक्ट 2005 में भारत सरकार की तरफ से तैयार किया गया था इस उपरांत साल 2008 और 2013 में संशोधन किया गई है। इस स्कीम का मुख्य मंतव्य जरूरतमंद लोगों के जाब कार्ड तैयार करके उनको रोज़गार देना है और गाँवों में स्थायी जायदादें तैयार करनी हैं। इस स्कीम के अंतर्गत कोई भी व्यक्ति जो लेबर करनी चाहता हो अपना जॉब कार्ड बना कर रोज़गार प्राप्त कर सकता है।
डिप्टी कमिश्नर ने बताया कि कोविड -19 के चलते मगनरेगा जॉब कार्ड होलडरों को मगनरेगा अधीन अधिक से अधिक सुविधा देने के लिए किये जा रहे प्रयास के अंतर्गत प्रत्येग गाँव में 5-5 व्यक्तिगत घरों को केटल शैड, सूअरों, बकरियों के शैड बनाने का लाभ मगनरेगा अधीन दिया जा रहा है, जिसके अंतर्गत जिला अमृतसर में 4300 को व्यक्तिगत लाभ दिया जाना है, और इसके अंतर्गत 1800 पशुओं के शैडों के निर्माण का काम चल रहा है। उन्होंने बताया कि जिला अमृतसर में मगनरेगा अधीन छप्पड़ों के नवीनीकरन, सीचेवाल माडल छप्पड़ों के निर्माण के काम, प्लांटेशन, आंगणवाड़ी सैंटर, रुरल् कुनैकटीविटी और पार्कों का निर्माण करवाया गया है।
खैहरा ने बताया कि पंजाब सरकार की तरफ से श्री गुरु तेग़ बहादुर जी के वें प्रकास पूर्व को समर्पित जिले के हर गाँव में मगनरेगा स्कीम के अंतर्गत पौधे लगाने के काम की शुरुआत हो चुकी है। उन्होने बताया कि जिले की 853 पंचायतों में 341200 पौधे लगाए जाएंगे। उन्होने बताया कि यह पौधे लगाने के लिए मगनरेगा स्कीम अधीन जंगलात विभाग के सहयोग के साथ 18 नरसरियां तैयार की गई हैं। यह पौधे इनें नरसरियों से पंचायतों को मुफ़्त दिए जाएंगे।

About amritsar news

Check Also

ईसीआई ने पंजाब के दो पुलिस अधिकारियों को उनके वर्तमान पदों से हटाकर गैर-चुनावी ड्यूटी पर लगाया

अमृतसर,22 मई :लोकसभा चुनाव के मद्देनजर  चुनाव आयोग ने बड़ी कार्रवाई की है। भारत के …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *