Breaking News

विवादित वायरल ऑडियो की फोरैंसिक जांच हो

  • ऑटो वर्कशॉप में हो रहे कथित घोटालों को भी सामने लाया जाए

  • वाल्मीकि समाज को बदनाम करने वालों पर भी कार्रवाई हो

  • वाल्मीकि समाज जत्थेबंदियों व निगम यूनियन के पदाधिकारियों ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में किया खुलासा

वाल्मीकि समाज जत्थेबंदियों व नगर निगम यूनियनों के पदाधिकारी।

अमृतसर, 18 अगस्त (राजन):नगर निगम के दो अधिकारियों की आपसी बातचीत को लेकर वायरल हुई ऑडियो को लेकर मामला गर्माता जा रहा है। इस सबंधी आज वाल्मीकि समाज की जथेबंदियों पावन वाल्मीकि तीर्थ एक्शन कमेटी, आदि वाल्मीकि धर्म समाज, भावाधास व अन्यों के पदाधिकारी कुमार दर्शन, शशि गिल, कुमार सानू, मनी चीदा, सनी मट्टू, जेकसन तथा राष्ट्रीय सफाई मजदूर संघ के पंजाब प्रधान संजय खोसला , नगर निगम तालमेल दल के सरपरस्त के.एस. पंडोरी, म्यूंसीपल कार्पोरेशन वर्कर यूनियन के सुरिंदर टोना व अन्यों द्वारा प्रेस कॉन्फ्रेंस करके कहा गया है कि वायरल ऑडियो तथा उस ऑडियो की बनाई गई सीडी की फोरेंसिक जांच की जाए तथा साइबर क्राइम को भी केस सौंपा जाए। उन्होंने कहा दो अधिकारियों द्वारा आपस में की गई बातचीत लगभग 4 महीने पुरानी है, इसमें एक अधिकारी का मोबाइल फोन सीवरमेन के साथ जुड़ा हुआ था। ऑडियो की कितने महीनों बाद सीडी बनाकर जिन्होंने यह घिनौना कार्य किया है सहन नहीं किया जाएगा। उन्होने कहा कि वाल्मीकि समाज को बदनाम करने वालों पर भी कारवाई हो। उसकी विधिवत जांच होनी चाहिए। इसमें जो भी दोषी पाया जाए उसके विरुद्ध कारवाई की जाए।

ऑटो वर्कशॉप में हो रहे घोटालों की जांच कमेटी अपनी रिपोर्ट जल्द सौंपे

संजय खोसला पत्रकारों से बातचीत करते हुए।

राष्ट्रीय सफाई मजदूर संघ के पंजाब प्रधान संजय खोसला  ने कहा कि ऑडियो की जो सीडी बनाई गई है वह पूरी तरह से तोड़-मोड़ पर बनाई गई है। फोरेंसिक जांच तथा साइबर क्राइम द्वारा जब जांच की जाएगी तो सच पूरी तरह से सामने आ जाएगा। उन्होंने कहा कि नगर निगम की ऑटो वर्कशॉप में विगत 18 जुलाई को जो हुआ था उसकी विस्तारपूर्वक रिपोर्ट बनाकर उन्होंने मेयर व निगम कमिश्नर को सौंपी थी। उन्होने कहा कि एक्सीएन विजय धीर निगम कमिश्नर के आदेशों पर सीसीटीवी कैमरे लगाने के लिए ऑटो वर्कशॉप में गए थे। ऑटो वर्कशॉप में जो उस दिन हुआ वह सभी भली-भांति जानते हैं एक्सीएन विजय धीर को एक सफाई कर्मी द्वारा शराबी हालत में गंदी-गंदी गालियां निकाल कर आपत्तिजनक इशारे दर्शाए गए। उन्होंने कहा कि मौके पर जेई विक्रम कुमार तथा सीसीटीवी कैमरे लगाने वाले भी वाल्मीकि समाज से संबंधित है। एक्सीएन विजय धीर द्वारा कोई भी जाति-सूचक शब्दावली उस दिन सफाई सेवक को नहीं कही गई क्योंकि उस दिन मौके पर नगर निगम पुलिस इंचार्ज तथा दुर्ग्याणा पुलिस चौंकी के ए.एस.आई. भी मौजूद थे। इन सभी ने एक्सीएन को गालियां निकालने वाले सफाई कर्मी को पकड़कर कमरे से बाहर निकाला था।  मौके की वीडियो को भी सभी भली भांति जानते है। अलबत्ता सरकारी काम में विघ्न डालने आपत्तिजनक बोली बोलने तथा ऑटो वर्कशॉप के डीजल पेट्रोल चोरी अन्य कार्यों के लिए बनाई गई जांच कमेटी  द्वारा अभी तक जाँच सौंपी जानी है।  उन्होंने कहा कि इस संबंध में निगम कमिश्नर को विस्तारपूर्वक फोटोग्राफ सहित ज्ञापन दिया जा चुका है। फोटो में साफ दिखाई दे रहा है एक प्राइवेट युवक नगर निगम का पेट्रोल पंप चला रहा है। प्राइवेट युवक ही नगर निगम का ट्रेक्टर ट्राली चला रहा है। कैनी में पेट्रोल-डीजल डालकर चोरी हो रहा है।  इसके बावजूद भी कोई कार्यवाही नहीं हुई। उन्होने कहा कि जांच कमेटी के चेयरमैन एडिश्नल कमिश्नर संदीप रिशी तथा सदस्य हैल्थ अफसर डॉ. योगेश अरोड़ा, सदस्य एस.ई. (सिवल) दपिंदर सिंह संधू इसकी पूर्णः जांच करके रिपोर्ट निगम कमिश्नर को सौंपे ताकि दोषियों के विरुद्ध कारवाईयां हो सके।

About amritsar news

Check Also

निगम कर्मचारियों को डेंगू की रोकथाम और तनाव प्रबंधन पर दी जानकारी  

राष्ट्रीय डेंगू दिवस पर पंजाब म्यूनिसिपल सर्वसिस इंप्रूवमेंट प्रोजेक्ट के तहत करवाया सेमिनार     अमृतसर,16 मई …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *