Breaking News

नगर निगम स्वास्थ्य विभाग की टीम ने शहर के प्रसिद्ध शॉपिंग मॉल के खानपान के अंतरराष्ट्रीय आउटलेट्स में दी दस्तक

स्वच्छ भारत मिशन के अंतर्गत की गई जांच

डेढ़ दर्जन आउटलेट्स में मिली कुछ गंदगी, सिंगल यूज प्लास्टिक, गीला और सूखा कूड़ा मिक्स, काटे चालान

अमृतसर,28 जनवरी (राजन): स्वच्छ भारत मिशन के अंतर्गत नगर निगम स्वास्थ्य विभाग की टीम ने शहर के एक प्रसिद्ध शॉपिंग मॉल मे दस्तक दी। इस प्रसिद्ध शॉपिंग मॉल में अंतरराष्ट्रीय स्तर के खानपान के आउटलेट्स हैं। टीम द्वारा लगभग  दो दर्जन आउटलेट्स की जांच की गई। टीम का नेतृत्व कर रहे एमएचओ डॉ किरण कुमार ने बताया कि मॉल के भीतर बड़े-बड़े आउटलेट्स में कुछ गंदगी भी मिली। जांच दौरान पाया गया कि गीला और सूखा कूड़ा रखने के लिए अलग-अलग कूड़ेदान तो पड़े हुए थे  किंतु कूड़ेदान में गीला सूखा कूड़ा मिक्स करके ही डाला गया था । कूड़े को डीकंपोज करने के लिए मशीन तो थी किंतु सूखा गीला कूड़ा मिक्स होने पर डीकंपोज मशीन में कूड़ा पूरी तरह से नहीं डाल सकता है।

डॉ किरण कुमार ने बताया कि  सरकार द्वारा पिछले लंबे अरसे से सिंगल यूज प्लास्टिक को बैन किया हुआ है। किंतु इन आउटलेट्स में सिंगल यूज प्लास्टिक भी भारी मात्रा में पाया गया। उन्होंने बताया कि शॉपिंग मॉल में स्थित डेढ़ दर्जन आउटलेट्स के  गंदगी फैलाने, सिंगल यूज प्लास्टिक उपयोग करने तथा गीला सूखा कूड़ा मिक्स रखने के चालान काटे गए हैं सिंगल यूज प्लास्टिक ज़ब्त कर लिया गया है। टीम में चीफ सेनेटरी इंस्पेक्टर जगदीप सिंह, चीफ सेनेटरी इंस्पेक्टर विजय गिल, सेनेटरी इंस्पेक्टर, सेनेटरी सुपरवाइजर  शामिल थे।

दी गई चेतावनिया

डॉ किरण कुमार ने बताया कि आउटलेट्स में जांच दौरान उपस्थित मैनेजर और स्टॉफ को चेतावनी अभी दी गई है। उन्होंने कहा कि सभी को स्पष्टतौर पर कहा गया है कि आउटलेट्स को पूरी तरह से साफ-सुथरा, गीला सूखा कूड़ा अलग-अलग, सिंगल यूज प्लास्टिक बिल्कुल ना हो, स्टाफ के मेडिकल सर्टिफिकेट, आउटलेट्स के कंजर्वेंसी ट्रेड लाइसेंस, डीकंपोज मशीनें अवश्य होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि इन सभी आउटलेट्स की  दोबारा भी जांच की जाएगी।

गुरु नगरी को स्वच्छता की रैंकिंग में ऊपर लाना है

डॉ किरण कुमार ने बताया कि गुरु नगरी को स्वच्छता की रैंकिंग में ऊपर लाना है जिसके तहत स्वच्छ भारत मिशन के अंतर्गत  शहर के अलग-अलग बड़े-बड़े शॉपिंग मॉल्स, होटल, रेस्टोरेंट्स की लगातार चेकिंग की जाएगी। उन्होंने कहा कि अगर बड़े-बड़े संस्थानों से नीला सूखा कूड़ा मिक्स निकलेगा तो  डंप में भी डीकंपोज नहीं हो पाएगा। विशेषकर शहर में  गंदगी के ढेरों में सिंगल यूज प्लास्टिक पाए जाने से गुरु नगरी अमृतसर की स्वच्छता रैंकिंग गिर जाएगी। स्वच्छ  भारत मिशन के अंतर्गत नगर निगम का स्वास्थ्य विभाग पहले से ही शहरवासियों को जागरूक कर रहा है। उन्होंने कहा कि जांच दौरान  चालान काटने में भारी भरकम जुर्माने डाले जाएंगे।

‘अमृतसर न्यूज़ अपडेटस” की व्हाट्सएप पर खबर पढ़ने के लिए ग्रुप ज्वाइन करें

https://chat.whatsapp.com/D2aYY6rRIcJI0zIJlCcgvG

‘अमृतसर न्यूज़ अपडेटस” की खबर पढ़ने के लिए ट्विटर हैंडल को फॉलो करें

https://twitter.com/AgencyRajan

About amritsar news

Check Also

नगर निगम ने शहर के सभी हिस्सों में मुख्य सीवरेज की सफाई के लिए अपनी सारी मशीनरी शुरू की हुई

नागरिकों को किसी भी समस्या का सामना नहीं करना पड़ेगा: कमिश्नर नगर निगम सीवरेज डिसिल्टिंग …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *