Breaking News

राज्यपाल द्वारा सीमावर्ती क्षेत्रों में जाने पर आप नेताओं द्वारा सवाल खड़े करने पर राज्यपाल ने कहा ‘आई डोंट केयर ‘

पाकिस्तान ने सीमा पर हिडन वार छेड़ रखी, इसका जवाब देंगे

अमृतसर,8 जून (राजन):पंजाब के राज्यपाल द्वारा सीमावर्ती क्षेत्रों में जाने पर आम आदमी पार्टी के नेताओं व मंत्रियों की तरफ से सवाल खड़े किए जाने का राज्यपाल बनवारी लाल पुरोहित ने जवाब दे दिया है। बनवारी लाल पुरोहित ने कहा- मंत्री क्या बोलते हैं, इससे उन्हें कोई फर्क नहीं पड़ता( आई डोंट बोदर ) । इसके पीछे राजनीतिक कारण हो सकते हैं। मैं राजनीति नहीं करता। मैं अपना काम कर रहा हूं। जहां अच्छे काम होते हैं, मैं वहां पुलिस व प्रशासन की तारीफ भी करता हूं। जहां कमी दिखेगी, मैं बोलूंगा। चाहे किसी को अच्छा लगे या बुरा । गौरतलब है कि राज्यपाल के सीमावर्ती क्षेत्रों के दौरे पर निकलने के बाद आप मंत्रियों ने सवाल खड़े किए थे। उन्होंने इसे राज्यपाल  का काम नहीं बताया था। यह सवाल राज्यपाल के पहले पंजाब बॉर्डर एरिया के दौरे के समय भी उठते रहे हैं। लेकिन पहली बार उन्होंने इसका जवाब दिया है।

पाकिस्तान के साथ चल रही हिडन वार

सीमावर्ती क्षेत्रों के  दौरे पर निकले पंजाब के राज्यपाल  बनवारी लाल पुरोहित ने पाकिस्तान पर हिडन वार (युद्ध) के आरोप लगाए हैं। गवर्नर पुरोहित ने कहा कि पाकिस्तान के पास सीधा युद्ध लड़ने की हिम्मत नहीं है। वे पंजाब बॉर्डर के रास्ते हथियार व ड्रग्स की तस्करी करवा कर हिडन यूद्ध लड़ रहा है। यह भी एक तरह का युद्ध ही है । इसका जवाब दिया जाएगा।राज्यपाल ने बताया कि यह उनका ऑफिशियल चौथा व अन-ऑफिशियल 5वां दौरा है। इस दौरान जो-जो निर्णय लिए गए, उसका अब असर दिखने लगा है। पंजाब का राज्यपाल बनने के बाद उनकी सबसे पहली कोशिश पाकिस्तान बॉर्डर को मजबूत करने की थी, ताकि पाकिस्तान की हरकतों को रोका जा सके। 5 बार यहां आने के बाद सबसे पहले बॉर्डर एरिया के लोगों व सरपंचों से मिले, ताकि सरहद की दिक्कत को समझा जा सके। सीमा पर हर समय तैनात रहने वाली बॉर्डर सिक्योरिटी फोर्स  के अलावा आर्मी, स्थानीय पुलिस और केंद्रीय सुरक्षा एजेंसी  एनआईए  के बीच समन्वय बनाया गया। इसके परिणाम अब देखने को मिले। बीते कुछ समय से बॉर्डर पर ड्रोन को गिराने की संख्या में इजाफा हुआ है। यह एक बड़ी सफलता है।

बॉर्डर के गांवों में सुरक्षा समितियां

राज्यपाल ने बताया कि यहां दूसरा काम बॉर्डर एरिया के गांवों में सुरक्षा समितियां बनाने का था। हर जिले के एसएसपी व डीसी ने मिलकर सीमा के साथ लगते 10 कि.मी. एरिया में समितियों का गठन किया। इस समिति में 11 से 15 लोग हैं । 10 कि.मी. के हर गांव को कवर करने के बाद अब 5 और कि.मी. के गांव इस स्कीम में लाए जाएंगे।

समितियों से मिली तस्करों की जानकारियां

राज्यपालने बताया कि सरहद पार के तस्कर तभी अपनी नापाक इरादों को अंजाम दे पाए, जब यहां के गांव के कुछ शरारती तत्वों ने साथ दिया। यह शरारती तत्व पुलिस की नजरों से बच सकते हैं, लेकिन गांव के लोगों को इनका पता होता है। गांव का कोई भी व्यक्ति अपने गांव के शरारती तत्व से दुश्मनी नहीं लेना चाहेगा। इसी को सोच कर सुरक्षा समितियों को बनाने का निर्णय लिया गया। इन सुरक्षा समितियों के सदस्यों के सीधे डीसी व एसएसपी से संबंध हैं । हर गलत हरकत अब पुलिस के पास जा रही है। राज्यपाल पुरोहित ने कहा कि जिस तरह से समितियां काम कर रही हैं, इन्हें सम्मान देना भी बनता है। इसलिए इन सभी समितियों के सदस्यों को अब ड्रेस दी जाएगी। ताकि इनकी अलग पहचान बन सके।

ड्रोन मूवमेंट को रोकने के लिए चल रहे प्रयोग

बॉर्डर पर ड्रोन मूवमेंट काफी बढ़ चुकी है। कई ड्रोन गिराए जा रहे हैं, लेकिन जो इनपुट केंद्र को मिल रही है, ये चिंता का विषय है। इसके लिए आर्मी के साथ मिलकर बीएसएफ नवीनतम तकनीकों पर रिसर्च कर रही है। कई प्रशिक्षण सफल भी हुए हैं। कोशिश है कि इनका प्रयोग साल भी में बॉर्डर पर किया जा सकेगा, ताकि मजूबत सरहद का निर्माण किया जा सके।

‘अमृतसर न्यूज़ अपडेटस” की व्हाट्सएप पर खबर पढ़ने के लिए ग्रुप ज्वाइन करें

https://chat.whatsapp.com/D2aYY6rRIcJI0zIJlCcgvG

‘अमृतसर न्यूज़ अपडेटस” की खबर पढ़ने के लिए ट्विटर हैंडल को फॉलो करें

https://twitter.com/AgencyRajan

About amritsar news

Check Also

अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर शहर में योग के शिविर लगाकर लोगों को योग कर इसे दिनचर्या में उतारने का दिया संदेश

अमृतसर, 21 जून:अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर शुक्रवार को शहर में योग के शिविर …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *