Breaking News

भारतीय सेना स्वर्णिम विजय वर्ष, 1971 के डोगराई वार मेमोरियल युद्ध के बहादुर सैनिकों को दी श्रद्धांजलि

अमृतसर,25 फरवरी(राजन):1971 के भारत-पाकिस्तान युद्ध की सैन्य जीत की प्रशंसा करते हुए स्वर्णिम विजय वर्ष का जश्न मनाने के लिए, स्वर्णिम विजय मशाल को भारत के विभिन्न हिस्सों में ले जाया जा रहा।  स्वर्णिम वियज मशाल 01 फरवरी 2021 को वज्र कोर के क्षेत्र में पहुँच गया था।  इसके बाद, उसने फिरोजपुर से अपनी यात्रा की। हुसैनीवाला सेक्टर और 24 फरवरी 2021 को अमृतसर (पैंथर डिवीजन) के पवित्र शहर में पहुंचा।


आज, मेजर जनरल राजू बैजल, जनरल ऑफिसर कमांडिंग पैंथर डिवीजन ने 1971 के डोगराई वॉर मेमोरियल, खासा सैन्य स्टेशन में युद्ध के बहादुर सैनिकों को श्रद्धांजलि दी।  इसके बाद एक सम्मान समारोह आयोजित किया गया, जिसमें कॉलेज के छात्रों द्वारा भांगड़ा, आर्मी पाइप बैंड प्रदर्शन और देश भक्ति गीतों के साथ एक सांस्कृतिक कार्यक्रम को आर्मी जाज बैंड द्वारा गाया गया।  तत्पश्चात, 8 गारड्स के MVC (मरणोपरांत) के द्वितीय लेफ्टिनेंट शमशेर सिंह के भतीजे श्री जसवंत सिंह को पदक के साथ सत्कार किया गया, जिन्होंने 1971 के युद्ध के दौरान बांग्लादेश में पूर्वी क्षेत्र में दुश्मन से लड़ते हुए सर्वोच्च बलिदान दिया था।इसके अलावा, आठ वीर नारी जिनके पति ने राष्ट्र के लिए लड़ते हुए अपने प्राण न्योछावर कर दिए थे, को भी सम्मानित किया गया।
इस समारोह में श्रीमती लक्ष्मी कांता चावला, पंजाब सरकार के पूर्व कैबिनेट मंत्री, गुरप्रीत सिंह खैहरा, उपायुक्त,  एस पी एस परमार, आई जी बॉर्डर जोन, सुच्चा सिंह, पुलिस आयुक्त, भी उपस्थित थे।  भूपिंदर सिंह, डी आई जी, बी एस एफ सेक्टर मुख्यालय, सेना और बी एस एफ के वरिष्ठ अधिकारी एन सी सी और आर्मी पब्लिक स्कूल, खासा के दिग्गज और छात्रों ने भी समारोह का हिस्सा लिया।

 

About amritsar news

Check Also

यूनिवर्सिटी शोध बिल को मंजूरी न देने पर पंजाब में सियासत एक बार फिर तेज : सी एम मान ने दिया बयान

मुख्यमंत्री भगवंत मान अमृतसर,18 जुलाई:यूनिवर्सिटी शोध बिल को मंजूरी न देने पर पंजाब में सियासत …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *