Breaking News

रॉकेट लॉन्चर अटैक में नेशनल इन्वेस्टिगेशन एजेंसी अपनी जांच में जुटी, आंतकी रिंदा ने मरने से पहले की थी अटैक की प्लानिंग

अमृतसर,11 दिसंबर (राजन):तरनतारन में सरहाली पुलिस स्टेशन पर हुए रॉकेट लॉन्चर अटैक में आज नेशनल इन्वेस्टिगेशन एजेंसी अपनी जांच में जुट गई है। पूरे मामले में एक बार फिर मर चुके हरविंदर सिंह रिंदा और कनाडा में बैठे लखबीर सिंह लंडा का नाम सामने आ रहा है। सरहाली थाने के प्रभारी को बदल दिया गया है। मिली जानकारी के अनुसार, बीते दिनों पाकिस्तान में मारे जा चुके हरविंदर सिंह रिंदा ने मरने से पहले इस अटैक की प्लानिंग कर दी थी ।वहीं इनपुट सुरक्षा एजेंसियों को मिली थी और थाने पर अटैक का नोटिस भी जारी किया गया था। लेकिन समय के साथ इसे नजरअंदाज कर दिया गया।

सत्ता ने इस पूरे घटनाक्रम को दिया अंजाम

सूचना है कि हरविंदर सिंह रिंदा का साथ कनाडा में बैठे लखबीर लंडा ने दिया। सूचना है कि रिंदा के मरने के बाद अब सतबीर सिंह सत्ता ने इस पूरे घटनाक्रम को अंजाम दिया। सत्ता इससे पहले कुरुक्षेत्र के शाहबाद में मिले आरडीएक्स मामले में भी वांटेड है। गैंगस्टर सतनाम नशहरा तरनतारन का ही रहने वाला है। वह काफी समय से अपराध की दुनिया में है। आतंकी हरविंदर रिंदा के साथ मिल कर वह ड्रोन के जरिए पाकिस्तान से सीमावर्ती इलाकों में नशा व हथियार मंगवाने का काम करता रहा। जिस आरपीजी का प्रयोग इस बार किया गया, स्पष्ट है कि वे भी पाकिस्तान से ही आया है।

जेल से लाए गए गैंगस्टर

पुलिस ने इस मामले में जेल में बंद 5 से 6 गैंगस्टरों को प्रोडक्शन वारंट पर लिया है। वहीं पंजाब पुलिस के काउंटर इंटेलिजेंस विंग, स्पेशल सैल और तरनतारन पुलिस ने 15 के करीब लोगों से पूछताछ शुरू की है।

एनआईए  जांच में जुटी

मामला आतंकवाद के साथ जुड़ा होने के कारण एनआईए भी इसकी जांच में जुट गया है। सूचना है कि  एनआईए की एक टीम आज सरहाली पुलिस स्टेशन का दौरा करेगी। फिलहाल केस को अपने हाथों में लेने का एनआईए  का अभी कोई विचार नहीं है। लेकिन पंजाब पुलिस की जांच के साथ-साथ  एनआईए भी जांच पर नजर रखेगी।

सुखबीर सिंह को लगाया थाना सरहाली का प्रभारी

पंजाब पुलिस ने इस घटना के बाद एक्शन लेते हुए थाना सरहाली के प्रभारी  का तबादला कर दिया है। थाने में तैनात एस एच ओ  प्रकाश सिंह को हटा दिया गया है। वहीं अब थाने में नए एस एच ओ सुखबीर सिंह को नियुक्त किया गया है।

आरपीजी को डिफ्यूज कर दिया

तरनतारन आरपीजी को डिफ्यूज कर दिया है। ग्रेनेड को डिफ्यूज करने में बम डिस्पोजल टीम जुटी हुई रही। हरिके के पतन दरिया किनारे ग्रेनेड को डिफ्यूज किया गया है। ऐसा इसलिए किया ताकि आस-पास कोई रिहायश न हो। इस दौरान मीडिया को 1 किलोमीटर की दूरी पर रहने की हिदायत दी गई ताकि कोई किसी घटना का शिकार न हो। इस समय भारी संख्या में पंजाब पुलिस भी मौजूद रही।  ग्रेनेड को डिफ्यूज करने के दौरान  रेत की बोरियों से पूरे इलाके को सील कर दिया गया। वहीं इस प्रक्रिया दौरान बड़े  धमाके से धूआं की लपटे भी दूर-दूर तक  उठती हुई नजर आई। अगर यह ग्रेनेड रॉकेट लांचर के दौरान थाने में फट जाता तो बड़ा धमाका हो सकता था जिससे बचाव हो गया। 

‘अमृतसर न्यूज़ अपडेटस” की व्हाट्सएप पर खबर पढ़ने के लिए ग्रुप ज्वाइन करें

https://chat.whatsapp.com/D2aYY6rRIcJI0zIJlCcgvG

‘अमृतसर न्यूज़ अपडेटस” की खबर पढ़ने के लिए ट्विटर हैंडल को फॉलो करें

https://twitter.com/AgencyRajan

About amritsar news

Check Also

नाबालिग लड़की से युवक ने किया बलात्कार

अमृतसर, 23 जून: नाबालिग लड़की से युवक द्वारा बलात्कार करने का मामला सामने आया है। …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *