Breaking News

कोर्ट ने अरविंद केजरीवाल को 4  दिन के और ईडी रिमांड पर भेजा

अरविंद केजरीवाल को कोर्ट में ले जाते हुए।

नई दिल्ली /अमृतसर,28 मार्च:शराब नीति केस में गिरफ्तार दिल्ली सीएम अरविंद केजरीवाल की  ई डी कस्टडी आज खत्म हो गई है। आगे की प्रक्रिया को लेकर राऊज एवेन्यू कोर्ट में सुनवाई हुई है। सुनवाई के उपरांत कोर्ट ने पहलेअपना फैसला सुरक्षित रखा। ईडी ने केजरीवाल की सात दिन की कस्टडी और मांगी है। कोर्ट ने ई डी को 4  दिन का रिमांड दे दिया है। अब केजरीवाल को ई डी 1 अप्रैल को कोर्ट में पेश करेगी। वहीं, दिल्ली सीएम अदालत में खुद अपना पक्ष रखा । केजरीवाल ने अपनी गिरफ्तारी का विरोध करते हुए कहा कि इस केस में मेरा नाम सिर्फ चार जगह आया है। 3 स्टेटमेंट दिए गए और उनमें से कोर्ट के सामने वो बयान लाया गया, जिसमें मुझे फंसाया गया। क्या ये 4 स्टेटमेंट एक मुख्यमंत्री को गिरफ्तार करने के लिए काफी हैं? वहीं, कोर्ट में पेशी के लिए जाते वक्त उनसे पूछा गया कि एल जी ने कहा था कि सरकार जेल से नहीं चलेगी। इसके जवाब में केजरीवाल ने कहा कि ये पॉलिटिकल षड्यंत्र है, जनता इसका जवाब देगी।

ई डी यह तर्क दिए, पंजाब के कुछ एक्साइस अधिकारियों को भी इस मामले में समन भेजा

अटॉर्नी सॉलिसिटर जनरल एसवी राजू ने कहा कि
केजरीवाल के बयान रिकॉर्ड कर लिए गए हैं। इन्होंने
टाल-मटोल करने वाले जवाब दिए हैं। हम केजरीवाल का सामना कुछ और लोगों से करवाना चाहते हैं। आप के गोवा प्रत्याशी के 4 और बयान दर्ज.किए गए हैं। हम केजरीवाल और आप प्रत्याशी का.आमना-सामना कराना चाहते हैं। केजरीवाल ने अपना पासवर्ड नहीं बताया है, इसके चलते हम डिजिटल डेटा हासिल नहीं कर पाए हैं। केजरीवाल कह रहे हैं कि पहले वे अपने वकीलों से बात करेंगे, इसके बाद फैसला करेंगे कि पासवर्ड देना है या नहीं। अगर वे पासवर्ड नहीं देते हैं तो हमें पासवर्ड ब्रेक करना होगा। ई डी यह भी तर्क दिया कि केजरीवाल जानबूझकर पूछताछ में सहयोग नहीं कर रहे हैं। हमने पंजाब के कुछ एक्साइस अधिकारियों को भी इस मामले में समन भेजा है। उनसे भी केजरीवाल का आमना-सामना कराया जाएगा।

केजरीवाल ने खुद कोर्ट में बोल कर कहा

केजरीवाल ने खुद कोर्ट में बोलकर कहा कि  मैं ईडी अफसरों को धन्यवाद कहना चाहता हूं। ये केस चलते-चलते 2 साल हो गए हैं। मुझे किसी कोर्ट में दोषी साबित नहीं किया जा सका। मुझे गिरफ्तार कर लिया गया। सीबीआई ने 31 हजार पन्ने और ईडी ने 25 हजार पेज दाखिल किए। आप इन दोनों को.साथ में भी पढ़ लीजिए। मुझे क्यों गिरफ्तार किया? केजरीवाल ने कहा मैं बोलना चाहता हूं।मेरा नाम 4 जगह आया है बस। एक है सी.अरविंद । उसने बोला कि उसने मेरी उपस्थिति में कुछ दस्तावेज सिसोदिया को दिए। मेरे घर रोज विधायक आते हैं,.क्या ये स्टेटमेंट एक मौजूदा मुख्यमंत्री को गिरफ्तार करने के.लिए काफी है?
केजरीवाल एक और गवाह राघव मुंगटा के बयान का हवाला दिया। उन्होंने कहा कि इस मामले में लोग गवाह बन जा रहे हैं और लोगों को बयान बदलने को मजबूर किया जा रहा है। केजरीवाल ने कहा ईडी का मिशन सिर्फ और सिर्फ मुझे फंसाना था। 3 स्टेटमेंट दिए गए और उनमें से कोर्ट के सामने वो बयान लाया गया, जिसमें मुझे फंसाया गया। ऐसा क्यों, ये सही नहीं है ना?एक और गवाह के 7 बयान दर्ज किए गए। 6
में मेरा नाम नहीं है। जैसे ही 7 वें बयान में मेरा नाम आता है, उसे छोड़ दिया जाता है।केजरीवाल ने कहा अगला है शरथ रेड्डी । मैं ये जानना चाहता हूं कि क्या ये 4 स्टेटमेंट एक मुख्यमंत्री को गिरफ्तार करने के लिए काफी हैं? हजारों पेज ईडी के दफ्तर में है, जो हमारी बेगुनाही को साबित करते हैं। उन्हें सामने क्यों नहीं लाया जाता है?

100 करोड़ का शराब घोटाला है तो वह पैसे कहां

केजरीवाल ने कोर्ट में कहा कि 100 करोड़ का शराब घोटाला है तो वो पैसा कहां गया? असली शराब घोटाला शुरू होता है, ईडी की जांच के बाद। ईडी के 2 मकसद थे। एक आप को खत्म करना और पर्दा डालकर उगाही का रैकेट चलाना। इसके जरिए वो पैसे इकट्ठा कर रहे हैं।केजरीवाल ने कहा शरथ रेड्डी ने 55 करोड़ का डोनेशन भाजपा को दिया। मेरे पास सबूत हैं कि ये रैकेट चल रहा है। मनी ट्रेल साबित हो गई है। उसने गिरफ्तार होने के बाद भाजपा को.50 करोड़ दिए।केजरीवाल ने कहा कि हम ईडी की रिमांड का विरोध नहीं कर रहे हैं। जितने दिन चाहें वो मुझे कस्टडी में रख लें पर यह घोटाला है।

केजरीवाल ने 100 करोड़ की रिश्वत मांगी

ईडी ने कहा कि चलिए कुछ लोगों ने पहले नाम नहीं लिया, ये जस्टिफाइड है, लेकिन उन लोगों ने पहले उनका नाम क्यों नहीं लिया। ये खेलना चाह रहे हैं। इन्हें कैसे पता है कि ईडी  के पास कितने दस्तावेज हैं? ये सब इनकी कपोल कल्पना है। आप को फंड मिला, जिसका इस्तेमाल इन्होंने गोवा इलेक्शन में किया। एकदम स्पष्ट चेन मिली है। हमारे पास बयान और दस्तावेज हैं, जिनसे साबित होता है कि पैसे.हवाला के जरिए आए और फिर गोवा चुनाव में फंडिंग की गई। ईडी ने तर्क दिया कि ये कह रहे हैं कि पैसे भाजपा को दिए गए। उसका शराब घोटाले से कोई लेना-देना नहीं है। मुख्यमंत्री कानून से ऊपर नहीं होता है। वो भी आम आदमी है। ईडी ने कहा कि हमारे पास सबूत हैं कि केजरीवाल ने 100 करोड़ की रिश्वत मांगी। अगर किसी को बयान बदलने के लिए मजबूर किया गया है तो यह जांच का विषय है।

‘अमृतसर न्यूज़ अपडेटस” की व्हाट्सएप पर खबर पढ़ने के लिए ग्रुप ज्वाइन करें

https://chat.whatsapp.com/D2aYY6rRIcJI0zIJlCcgvG

‘अमृतसर न्यूज़ अपडेटस” की खबर पढ़ने के लिए ट्विटर हैंडल को फॉलो करें

https://twitter.com/AgencyRajan

आपके क्षेत्र में कोई जनसमस्या है तो हमें ईमेल के माध्यम से लिखित तौर पर, फोटो और वीडियो भेजें

rajan.agency28@gmail.com

About amritsar news

Check Also

लोकसभा चुनाव के मध्य नजर कड़ी सुरक्षा व्यवस्था का प्रबंध किया : अर्पित शुक्ला

अमृतसर,15 मई :विशेष पुलिस महानिदेशक कानून एवं व्यवस्था अर्पित शुक्ला ने कहा कि लोकसभा चुनाव …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *