Breaking News

विज्ञापन विभाग के सेक्ट्ररी सुशांत द्वारा अपनी टीम के साथ शहर में लगे विज्ञापनों के यूनीपोलो,गनट्रीओं तथा एल ई डी स्क्रीनो का किया दौरा

सोमवार तक टैक्स न आने पर हेरिटेज स्ट्रीट मे लगी विज्ञापन की एल ई डी स्क्रीन बंद करेंगे: सुशांत भाटिया

सेक्ट्ररी सुशांत भाटिया अपनी टीम के साथ हेरिटेज स्ट्रीट मे लगी एलईडी की जांच करते हुए

अमृतसर,20 मार्च (राजन गुप्ता): नगर निगम के विज्ञापन विभाग को पिछले लंबे समय से मामूली सा टैक्स आने पर इसकी जांच कैग द्वारा भी की जा चुकी है। निगम के विज्ञापन विभाग को  पिछले 3 वर्षों से  मामूली सा टैक्स आया है। जबकि विज्ञापन विभाग द्वारा इससे पहले लगभग 8.5 करोड़ रुपये  से अधिक टैक्स एकत्रित कर चुका है।

सेक्ट्ररी सुशांत भाटिया अपनी टीम के साथ हेरिटेज स्ट्रीट मे लगी एलईडी की जांच करते हुए

इस वित्त वर्ष में  विज्ञापन विभाग की आमदनी का टारगेट 12 करोड रूपये रखा हुआ है। किंतु विभाग को अब तक मात्र 1.17 करोड़ रूपये ही एकत्रित हुआ है। शहर में आम चर्चा है कि पूरे पंजाब में विज्ञापन माफिया का बहुत ही स्ट्रांग नेटवर्क है, जिसमें अधिकारियों की भी संलिप्तता है। 12 मार्च को  निगम कमिश्नर कोमल मित्तल द्वारा विज्ञापन विभाग के सुपरिंटेंडेंट पुष्पेंद्र सिंह को विज्ञापन विभाग से हटा दिया गया था।  किंतु अभी तक पुष्पेंद्र सिंह ने विज्ञापन विभाग से अपना चार्ज नहीं छोड़ा है।

शहर में लगे यूनिपोलो की भी जांच करते हुए

शहर में यूनीपोलो, गनट्रियों  तथा एलईडी स्क्रीनो की फिजिकल जांच की: सुशांत भाटिया

विज्ञापन विभाग के सेक्ट्ररी सुशांत भाटिया ने कहां की एडिशनल कमिश्नर संदीप ऋषि के दिशानिर्देशों पर आज विभाग की टीम के साथ शहर में विज्ञापनों के लगे  यूनिपोलो, गनट्रियों तथा हेरिटेज स्ट्रीट मे लगी विज्ञापन की बड़ी-बड़ी एलईडी स्क्रीनो की फिजिकल जांच की है। उन्होंने बताया कि स्क्रीनो का बहुत बड़ा बिजली कनेक्शन सारागढ़ी पार्किंग के भीतर लगा हुआ है। उन्होंने बताया कि इसका ठेका जयपुर की कंपनी एन एस पब्लिसिटी प्राइवेट लिमिटेड को दिया हुआ है।  इस कंपनी पर नगर निगम का लाखों रुपया बकाया है। उन्होंने बताया कि  आज इस कंपनी के अधिकारियों से फोन पर संपर्क करके कहा गया है कि अगर सोमवार तक नगर निगम का बनता टैक्स अदा ना किया गया तो एलईडी स्क्रीनो को बंद कर दिया जाएगा। उन्होंने बताया कि शहर में यूनीपोलो तथा गेंट्रीओ की भी फिजिकल जांच की गई है कि कहां कहां पर यूनीपोल गेंतरिया खाली पड़ी है और कहां-कहां पर विज्ञापन लगे हुए हैं। उन्होंने बताया कि पूरे शहर का ठेका नगर निगम द्वारा दो विज्ञापन कंपनियों को दिया हुआ है। उन्होंने बताया कि इन कंपनियों से कितना कितना और कैसे टैक्स वसूल करना है। इस संबंधी भी जांच के उपरांत  निगम कमिश्नर के आदेश अनुसार नोटिस भेजे जाएंगे। उन्होंने कहा कि इसके इलावा शहर के सभी चौराहों में लगे विज्ञापनों के बोर्डो तथा  प्राइवेट बिल्डिंगों में  लगे  विज्ञापन होल्डिंगो की भी आने वाले दिनों में जांच की जाएगी। सुशांत भाटिया ने कहा कि कैग द्वारा विज्ञापन विभाग की जो जांच की गई है, उसकी रिपोर्ट भी मंगवाई जाएगी।

 

About amritsar news

Check Also

कैबिनेट मंत्री कुलदीप सिंह धालीवाल ने नगर निगम की ओर से चलाए जा रहे पौधारोपण अभियान के तहत पौधे लगाए

अमृतसर, 12 जुलाई:  कैबिनेट मंत्री कुलदीप सिंह धालीवाल ने आज पश्चिम विधानसभा क्षेत्र में स्थित …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *