Breaking News

स्मार्ट सिटी मिशन के तहत बदलने लगी शहर के पार्कों की हालत, 14 पार्कों का किया जा रहा है विकास

40 साल बाद शक्ति नगर चौंक पार्क का हुआ कायापलट, फे़स 2 में होगा 25 और पार्कों का विकास

स्मार्ट सिटी तहत पार्क का किया गया सौन्द्रयीकरण।

अमृतसर, 1 सितम्बर (राजन): स्मार्ट सिटी मिशन के तहत विकसित किए जाए रहे पार्कों की रूप रेखा अब बदलने लगी है । फ़ेस 1 के तहत शहर के अलग-अलग हिस्सों में कुल 14 पार्कों के पहचान की गई थी, जिनकी हालत काफी समय से काफी खराब थी । इन पार्कों में वॉल सिटी के मजीठ मंडी पार्क, शक्ति नगर चौंक पार्क, शक्ति नगर टंकी वाला पार्क, गंज दी मोरी पार्क, छहरटा में हुक्मचंद पार्क, हरगोबिंदपुरा पार्क और कलगीधर गुरूद्वारा के पास स्थित पार्क की हालत सबसे खराब थी। अब स्मार्ट सिटी मिशन के तहत इन पार्कों को विकसित करके यहां पर वॉकवे, गजीबो, बैंच, ओपन जिम इक्वीपमेंटस, बच्चों के झूले, डस्टबीन, बाउंड्री वॉल, हार्टीकल्चर वर्क, पेड़-पौधों के लिए पानी की व्यवस्था और कम उर्जा की खपत करने वाली एलईडी लाईटे लगाई गई हैं।
शक्ति नगर चौंक पार्क के पास ही फोटो ग्राफी की दुकान चलाने वाले सुरेंद्र सैनी ने बताया कि 40 साल पुराने इस पार्क की हालत काफी खस्ता थी। काफी देर से आस-पास के लोगों की मांग भी थी कुड़े के ढेर में बदल चुके इस पार्क की हालत को सुधारा जाए, जो कि अब जाकर पूरी हुई है। उन्होंने कहा की पहले लोग यहां पर कुड़ा फैंकते थे और पार्क में लगे हुए नल में नहाते भी थे। लेकिन अब यह पार्क काफी अच्छा बन गया है। बच्चे शाम के वक्त यहां लगे झूलों में खेलते हैं और लोग लगी मशीनों में कसरत करते हैं। वहीं मजीठ मंडी पार्क के पास पिछले 22 सालों से चाय का ठेला लगाने वाले विजय कुमार ने कहा कि पहले पार्क के अंदर कुड़े के ड्रम पड़े रहते थे। जिससे निकलने वाली बदबू से ना सिर्फ आसपास के लोग बल्कि पार्क के पास स्थित डाकखाने और स्कूल में काम करने वाले लोग तथा पढ़ने वाले बच्चे भी काफी परेशान रहते थे। उन्होंने कहा की अब तो पार्क की काया ही पलट गई है। जिससे की आस-पास के लोगों को काफी फायदा होगा।
इस मौके पर स्मार्ट सिटी की सीईओ कोमल मित्तल ने बताया कि 3.70 करोड़ की लागत से इन पार्कों को विकसित किया जा रहा है और इसी लागत में कांट्रेक्टर द्वारा तीन सालों तक इन पार्कों का रखरखाव भी किया जाएगा। लॉकडाउन की वजह से काम की रफतार धीमी हुई थी लेकिन अब काम काफी तेजी से चल रहा है, जिसमें से 5 पार्कों का काम 90 फीसदी पूरा हो चुका है और बाकी के पार्कों का काम भी नवंबर तक पूरा कर लिया जाऐगा। उन्होंने कहा कि पार्कों की देख-रेख और संभाल के लिए लोगों का सहयोग बहुत जरूरी है। पार्कों के आस-पास रहने वाले लोग एसोसिएशन या कमेटियां बनाकर इन पार्कों की देखबाल के लिए नगर-निगम का सहयोग कर सकते हैं।

स्मार्ट सिटी के तहत विकसित किए जा रहे पार्कों में लगाए जा रहे ओपन जिमः मित्तल
स्मार्ट सिटी मिशन की सीईओ कोमल मित्तल ने कहा कि स्मार्ट सिटी के तहत विकसित किए जा रहे सभी पार्कों में बाकी सभी सुविधाओं के साथ ओपन जिम इक्वीपमेंटस लगाऐ जा रहे हैं। जिनका इस्तेमाल आसपास रहने वाले लोग इस कोरोना काल में खुद को सेहतमंद रखने के लिए कर सकते हैं। फेज 2 के तहत शहर की पॉंचों विधानसभो क्षेत्रों में 25 ऐसे पार्कों की पहचान की गई है, जिनकी हालत अभी काफी खराब है। इनकी डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट तैयार कर ली गई है और अगले 10 दिनों के अंदर इनके टेंडर भी जारी कर दिए जाऐंगे।

स्मार्ट सिटी के तहत पार्कों के किए गए सौन्द्रयीकरण की तस्वीरें

About amritsar news

Check Also

निगम कर्मचारियों को डेंगू की रोकथाम और तनाव प्रबंधन पर दी जानकारी  

राष्ट्रीय डेंगू दिवस पर पंजाब म्यूनिसिपल सर्वसिस इंप्रूवमेंट प्रोजेक्ट के तहत करवाया सेमिनार     अमृतसर,16 मई …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *