Breaking News

गुम हुए 328 पावन सरूपों को लेकर हुई इंक्वायरी को एसजीपीसी ने सार्वजनिक कर दिया

अमृतसर,14 फरवरी (राजन): श्री गुरु ग्रंथ साहिब के गुम हुए 328 पावन सरूपों को लेकर हुई इंक्वायरी को शिरोमणि
गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी ने सार्वजनिक कर दिया है। प्रधान एडवोकेट हरजिंदर सिंह धामी ने एसजीपीसी   सदस्यों के साथ बैठक के बाद डॉ. ईशर सिंह कमेटी की रिपोर्ट को जनतक किया और इसे एक ठगी की घटना बताया है।एसजीपीसी के प्रधान एडवोकेट हरजिंदर सिंह धामी ने जानकारी दी कि यह मामला 2013-14 का है। श्री गुरु ग्रंथ साहिब की प्रिंटिंग के बाद हर सरूप का रिकॉर्ड रखा जाता है। उन पर सीरियल नंबर अंकित होते हैं और इन्हें रजिस्टर पर अंकित किया जाता है।लेकिन एसजीपीसी कर्मचारी कमलजीत सिंह ने ऐसा नहीं किया। उसकी तरफ से 267 सरूप स्थापित होने के लिए भेजे तो गए, लेकिन उनकी भेंट को खाते में जमा नहीं करवाया। यह पूरी घटना पावन सरूपों के गुम होने या बेअदबी की ना होकर ठगी है।

मनिंदर सिंह ने ढूंढी थी कमी

एसजीपीसी प्रधान धामी ने जानकारी दी कि आरोपी कमलजीत सिंह की जगह पर मनिंदर सिंह को लगाया गया था। जब वह रिकॉर्ड रूम की जांच कर रहा था तो स्पष्ट हुआ कि कमलजीत सिंह ने 212 सरूपों को स्थापित करने के लिए भेज दिया, लेकिन रजिस्टर में नहीं चढ़ाए। इसके साथ ही उसने 55 सरूप और तैयार कर लिए थे, जिन्हें रजिस्टर में चढ़ाया ही नहीं गया। उसका मुख्य मकसद 267 सरूपों के पैसों को हड़पना था।

पहले भी पकड़ा गया था कमलजीत सिंह

कमलजीत सिंह का यह पहला मामला नहीं था। इससे पहले भी कमलजीत सिंह ने बाज सिंह के साथ मिलकर सरूपों की गिनती में हेराफेरी की थी। तब 18 अगस्त 2015 को इन दोनों को 9.82 लाख रुपए जुर्माना भी किया गया था। यहां,एसजीपीसी से भी गलती हुई कि उनकी तरफ से कमलजीत सिंह जैसे व्यक्ति को इस काम में लगाया गया।

कमलजीत सिंह ने मानी गलती

डॉ. ईशर सिंह की रिपोर्ट आने से पहले ही कमलजीत सिंह इसकी गलती मान चुका था। कमलजीत सिंह ने एसजीपीसी  को रिटायरमेंट फंड जमा ही रखने की बात भी कही। कमलजीत सिंह ने अपनी गलती मानते हुए कुल 328 सरूपों की बनती भेंट को उसके रिटायरमेंट फंड से काट लेने की बात भी कही।

अन्य आरोपियों को किया गया जबरदस्ती रिटायर

एसजीपीसी प्रधान ने बताया कि कमलजीत सिंह का साथ देने वाले गुरबचन सिंह, बाज सिंह, जुझार सिंह, दलबीर सिंह और सतिंदर सिंह को 12 दिसंबर 2022 को सेवा से मुक्त कर दिया गया।इसके साथ ही उन्होंने कहा कि पूरी रिपोर्ट कोएसजीपीसी कार्यालय और ऑफीशियल वेबसाइट पर रखा गया है। जिसे कोई भी देख सकता है।

‘अमृतसर न्यूज़ अपडेटस” की व्हाट्सएप पर खबर पढ़ने के लिए ग्रुप ज्वाइन करें

https://chat.whatsapp.com/D2aYY6rRIcJI0zIJlCcgvG

‘अमृतसर न्यूज़ अपडेटस” की खबर पढ़ने के लिए ट्विटर हैंडल को फॉलो करें

https://twitter.com/AgencyRajan

About amritsar news

Check Also

जालंधर उपचुनाव में AAP की जीत पर विधायक डॉ गुप्ता ने अपने समर्थनों के साथ खुशी मनाई, लड्डू बांटे

अमृतसर, 13 जुलाई: केंद्रीय विधानसभा क्षेत्र से विधायक डॉ अजय गुप्ता ने जालंधर उपचुनाव में …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *