Breaking News

गुरु नगरी अमृतसर के लिए राहत और विकास के लिए तत्पर रहा अग्रवाल दंपत्ति

डॉ हिमाशु अग्रवाल और कोमल मित्तल ने सब कुछ सफलतापूर्वक किया, उनके विभागों के अधिकारियों व मुलाजिमों द्वारा पूर्ण सम्मान दिया
आईएएस / पीसीएस अधिकारियों के तबादले के आदेश 5 जून से होंगे लागू


अमृतसर, 27 मई (राजन गुप्ता): पंजाब की मुख्य सचिव विनी महाजन द्वारा जारी आदेशों में कहा गया है कोविड-19 के चलते पंजाब सरकार द्वारा हाल ही में आईएएस/ पीसीएस  अधिकारियों के तबादलों के आदेश अब 5 जून से लागू होंगे। गुरु नगरी अमृतसर मे कार्यरत एडिशनल डिप्टी कमिश्नर  डॉ. हिमांशु  अग्रवाल व उनकी पत्नी नगर निगम कमिश्नर तथा सीईओ स्मार्ट सिटी  कोमल मित्तल का तबादला साहिबजादा अजीत सिंह नगर में कर दिया गया है। पति-पत्नी दोनों युवा अधिकारी हैं।  जब डॉ.  हिमाशु अग्रवाल 2018 में एडिशनल कमिश्नर जरनल  के रूप में अमृतसर आए, तो उन्हें दशहरे के अवसर पर एक बड़ी ट्रेन दुर्घटना का सामना करना पड़ा, जिसमें लगभग 60 लोग मारे गए थे।  दशहरे की इस पूरी रात पूरा प्रशासन मृतकों की देखभाल और घायलों को अस्पताल पहुंचाने में लगा हुआ था।हादसे के वक्त जिला प्रशासन ने लगातार 30 घंटे काम किया.  अग्रवाल ने डॉक्टरों के साथ गुरु नानक मेडिकल कॉलेज में घायलों का इलाज किया।  इसके बाद डॉ.  हिमांशु अग्रवाल ने  दुर्घटना पीड़ितों के परिवारों को नौकरी देने के लिए सरकार के साथ समन्वय भी किया। मार्च 2020 से जब कोरोना ने अमृतसर में दस्तक दी, तब से डॉ. हिमाशु अग्रवाल ने जिला प्रशासन तथा सेहत विभाग के साथ कंधे से कंधा मिलाकर काम कर रहे हैं।  एक डॉक्टर के रूप में, उनके पास संकट को गंभीरता से लेने की विशेषज्ञता है, जिसके परिणामस्वरूप पंजाब सरकार ने उन्हें सहायक सचिव चिकित्सा शिक्षा का अतिरिक्त प्रभार दिया और गुरु नानक मेडिकल कॉलेज, अमृतसर का कार्यभार भी संभाला।  पिछले महीने जब ऑक्सीजन का संकट शुरू हुआ था, ऐसे दिन थे जब जिले में ऑक्सीजन की आपूर्ति लगभग समाप्त हो गई थी। हिमांशु  अग्रवाल के प्रभावी दृष्टिकोण और इस मुद्दे पर उपायुक्त सहित चंडीगढ़ स्थित मुख्यालय के साथ लगातार संपर्क के साथ, अंतिम समय में संकट का समाधान किया गया, जिससे कई लोगों की जान बच गई।
इसी तरह कोमल मित्तल ने बतौर नगर निगम कमिश्नर शहर वासियों को पूर्ण मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध करवाई। नगर निगम के संपूर्ण अधिकारियों तथा मुलाजिमों कोरोना वारियर्स  बनाकर एक फोज खड़ी कर नगर निगम में कोविड-19 सेंटर, शहर का सैनिटाइजेशन, सफाई प्रबंधन तथा अन्य प्रबंध बखूबी से निभाए। शहर के परिवारों के लिए भोजन की व्यवस्था और टीकाकरण शिविर लगाने के लिए जिम्मेदार बनी रहीं।  पंजाब सरकार ने जब कोरोना संकट में प्रवासी कामगारों को उनके राज्य भेजने की व्यवस्था की तो अमृतसर जिले से मजदूरों को उनके घर भेजने की जिम्मेदारी कोमल मित्तल को दी गयी, जिन्होंने अपनी टीम के साथ इस महान कार्य को अंजाम दिया।  कमिश्नर नगर निगम  और सीईओ स्मार्ट सिटी मिशन के रूप में शहर में एलइडी स्ट्रीट लाइट, एलिवेटेड रोड के नीचे ग्रीनरी तथा बढ़िया आधुनिक  लाइटिंग, शहर के पार्कों का सौंदर्यकरण अन्य महत्वपूर्ण विकास के प्रोजेक्टो जिनमें वार्ड सिटी के साथ साढे 7 किलोमीटर लंबी आउटर सर्कुलर रोड का सौंदर्य करण, स्ट्रीट बेंडिंग तथा प्रधानमंत्री आवास योजना  के लिए लोगों को राहत पहुंचाई। गुरु नगरी में वर्ल्ड बैंक के सहयोग से करोड़ों रुपयों के नहरी पानी योजना प्रोजेक्ट, कैरो मंडी मल्टी स्टोरी आधुनिक पार्किंग व्यवस्था, श्री दुर्गियाना मंदिर हेरिटेज स्ट्रीट तथा अन्य बड़े-बड़े विकास के प्रोजेक्ट धरातल पर ला दिए हैं।उनके काम को हमेशा याद किया जाएगा।  शहर के निवासियों को उम्मीद है कि अग्रवाल दंपत्ति अभी भी अपनी सेवा के दौरान अमृतसर आएंगे और सेवाएं देंगे। अग्रवाल दंपति को उनके विभागों के अधिकारियों तथा मुलाजिमों द्वारा पूर्ण सम्मान दिया गया है।

About amritsar news

Check Also

एमटीपी विभाग ने तीन कमर्शियल निर्माणाधीन  बिल्डिंग की सील

अमृतसर,15 जून: नगर निगम कमिश्नर हरप्रीत सिंह के आदेशों अनुसार एमटीपी विभाग ने तीन कमर्शियल …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *